akhbar jagat

एक से ज़्यादा बैंकों में है खाता तो हो जाएं सावधान! नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

एक से ज़्यादा बैंकों में है खाता तो हो जाएं सावधान! नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

अख़बार जगत अगर आपने कोई ऐसा बैंक खाता (Bank Account) खुलवाया हो जिसका इस्तेमाल आप नहीं करते हैं तो उस खाते तो बंद करवाना (Bank Account Close) आपके लिए ठीक है. क्योंकि आपको खाता रखने के लिए मिनिमम बैलेंस मेनटेन (Minimum Balance) करना होता है. साथ ही, ऐसा नहीं करने पर बैंक आपसे इसके लिए भारी चार्ज भी वसूलता है. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि अगर आप कोई बैंक खाता बंद करते हैं तो उससे जुड़े सभी जरूरी डाक्यूमेंट्स को आपको डी-लिंक कराना होगा. क्योंकि बैंक खाते से निवेश, लोन, ट्रेडिंग, क्रेडिट कार्ड पेमेंट और बीमे से जुड़े पेमेंट लिंक होते है. आइए आपको बताते हैं कि कैसे आप अपने खाते को बंद करा सकते हैं.

 


>> मौजूदा समय में अक्सर लोग जल्दी-जल्दी नौकरी बदलते हैं ऐसे में हर संस्थान अपने लिहाज से सैलरी खाता खुलवाता है. लिहाजा पिछली कंपनी वाला खाता लगभग निष्क्रिय हो जाता है. किसी भी सैलरी खाते में तीन महीने तक सैलरी नहीं आने पर वह अपने आप सेविंग खाते में बदल जाता है.

>> सेविंग खाते में बदलते ही उस खाते के लिए बैंक के नियम भी बदल जाते हैं. इन्हीं नियमों के मुताबिक खाते में मिनिमम राशि भी रखनी होती है और अगर आप ये रकम नहीं रखते हैं तो बैंक आपसे पेनल्टी भी वसूलते हैं और खाते से पैसे कट जाते हैं.


>> कई बैंकों में खाता होने से इनकम टैक्स भरते समय आपको कई परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है. आपको अपने हर बैंक खाते से जुड़ी जानकारी उसमें देनी पड़ती है.

>> साथ ही सभी खाते के स्टेटमेंट लगाना भी काफी माथापच्ची करने वाला काम हो जाता है. निष्क्रिय खाते का ठीक से इस्‍तेमाल न करने पर आपको पैसों का नुकसान भी हो सकता है. मान लीजिए कि आपके पास चार बैंक खाते हैं जिनमें मिनिमम बैलेंस 10,000 रुपए होने चाहिए.

>> इस पर आपको 4 प्रतिशत की दर से सालाना ब्याज मिलता है. इस हिसाब से आपको लगभग 1600 रुपए ब्‍याज मिलेगा. अब, आप सभी खातों को बंद कर इसी रकम को म्यूचुअल फंड के निवेश में लगा देते हैं तो यहां आपको कम से कम 10 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है

    Web Title : account holders