akhbar jagat

पति से तलाक के बाद बनी दुनिया की चौथी अमीर महिला

पति से तलाक के बाद बनी दुनिया की चौथी अमीर महिला

अख़बार जगत । दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति और Amazon के फाउंडर जेफ बेजोस की पत्नी मैकेंजी बेजोस ने तलाक के हर्जाने के रूप में खुद को मिली 36.5 अरब डॉलर में से आधा हिस्सा चैरिटी में लगाने का निर्णय लिया है। अमेजॉन डॉट कॉम इंक के सीईओ जेफ बेजोस की पत्नी मैकेंजी ने हाल में ही अपने पति से तलाक लिया था। अपने इस कदम से वह अमेरिका के दिग्गज अरबपतियों वारेन बफे और बिल गेट्स की राह पर चल पड़ी हैं। 

उन्होंने मंगलवार को 'गिविंग प्लेज' अभियान में शामिल होने की घोषणा की। इस अभियान की शुरुआत बफे और बिल गेट्स ने की है। इसके तहत अत्यंत धनी लोगों से अपने धन का बड़ा हिस्सा जीवनकाल में ही या वसीयत में दान करने का आह्वान किया जाता है। इस तरह से मिले धन का इस्तेमाल चैरिटी कार्य के लिए किया जाता है। 

दरअसल, जेफ बेजोस और मैकेंजी के बीच तलाक की प्रक्रिया अप्रैल में ही पूरी हुई है। इसके बाद मैकेंजी के हिस्से में Amazon के शेयर की 4 फीसदी हिस्‍सेदारी आई है। इन शेयर्स की वैल्यू करीब 36.5 अरब डॉलर ( करीब 2.52 लाख करोड़ रुपये) हो गई है। 

इससे जेफ बेजोस की पत्‍नी मैकेंजी दुनिया की चौथी सबसे अमीर महिला बन गईं। इसके पहले खुद जेफ बेजोस ने भी  गरीबों की मदद के लिए 2 अरब डॉलर (करीब 14,500 करोड़ रुपये) दान करने का निर्णय लिया था। उन्होंने परोपकार के लिए एक फंड की शुरुआत की है जिससे बेघर परिवारों और गरीब बच्चों की मदद की जाएगी। 

जेफ बेजोस फोर्ब्स की सूची के मुताबिक दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति हैं। मैकेंजी के पास 4% शेयर जाने के बाद जेफ बेजोस के पास Amazon के 12% शेयर रह गए हैं। बेजोस 114 अरब डॉलर (7.87 लाख करोड़ रुपये) की नेटवर्थ के साथ दुनिया के सबसे बड़े अमीर बने हुए हैं। 

इस तलाक की प्रक्रिया में जेफ बेजोस को पत्‍नी मैकेंजी की वोटिंग राइट मिल गई है। इसका मतलब यह हुआ कि कंपनी के किसी भी फैसले में पत्‍नी मैकेंजी का दखल नहीं होगा। अहम बात यह है कि जेफ बेजोस की पत्‍नी मैकेंजी के पास तलाक के बाद दुनिया की सबसे अमीर महिला बनने का मौका था। 

दरअसल, वॉशिंगटन के कानून के मुताबिक शादी के बाद अर्जित की गई संपत्ति तलाक के समय पति-पत्नी में बराबर बांटी जाती है। अगर ऐसा होता तो मैकेंजी दुनिया की सबसे अमीर महिला बन सकती थीं। हालांकि उन्‍होंने ऐसा नहीं किया। इससे जेफ बेजोस दुनिया के अमीरों की लिस्ट में पहले से फिसलकर चौथे नंबर पर आ जाते।

मैकेंजी ने जेफ बेजोस के अखबार वॉशिंगटन पोस्ट और स्पेस कंपनी ब्लू ऑरिजिन में भी कोई हिस्सेदारी नहीं मांगी है। इसके अलावा अन्‍य अलग-अलग जगह भी जेफ बेजोस का निवेश है। इसके पहले अमेरिका में ही माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने अरबों डॉलर का दान किया था।