akhbar jagat

जिला अस्पताल से दिनदहाड़े 6 दिन के नवजात शिशु को लेकर फरार महिला

जिला अस्पताल से दिनदहाड़े 6 दिन के नवजात शिशु को लेकर फरार महिला

अख़बार जगत। मासूम बच्चो की चोरी के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे है कई जगह  पर बड़े - बड़े हॉस्पिटल में बच्चे चोरी हो जाते है ,या फिर  बदल दिए जाते है लेकिन किसीको  कानोंकान   नजर नहीं आता तो ऐसे में  कोन है इनका जिम्मेदार एक ऐसा ही बच्चा चोरी का मामला सामने आरहा है। जिला अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था में एक बड़ी चूक का मामला उजागर हुआ है। जिले में पहली बार अस्पताल के शिशु वार्ड से महिला 6 दिन के बच्चे को चोरी कर साथ ले गई। महिला द्वारा बच्चा चोरी की वारदात अस्पताल में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई है। चोरी के बाद बच्चे की मां का रो रो कर बुरा हाल है।  मामला प्रकाश में आने के बाद अस्पताल प्रबंधन ने तत्काल इसकी सूचना सिटी कोतवाली पुलिस को दी है। इस घटना ने अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवालिया निशान लगा दिए हैं।

रायकोना निवासी चंद्रमुनि पति मिल्कु  सोमवार को जिला अस्पताल में प्रसव कराने के लिए भर्ती हुई थी।  गुरुवार को जिला अस्पताल में उसने एक बच्चे को जन्म दिया। जच्चा और बच्चा दोनों का इलाज जिला चिकित्सालय में ही चल रहा था। मंगलवार की दोपहर 2 बजे अस्पताल में पीपीसी वार्ड में एक महिला दोपहर लगभग 2 बजे प्रवेश की। चंद्रमुनि के बेड के पास पहुंचकर अपने किसी परिचित का नाम लेते हुए पूछी कि उनकी छुट्‌टी हो गई है।

चंद्रमुनि ने इसकी जानकारी होने से इनकार किया तो महिला उससे बातचीत करने लगी और लोदाम से यहां आने की जानकारी दी। इसके बाद वह उसके बेड पर बैठ गई। कुछ देर बातचीत करने के बाद उसने चंद्रमुनि के बच्चे को गोद में लेकर उससे बात करने लगी। चंद्रमुनि ने जब महिला को बताया कि उसे जननी सुरक्षा का फार्म भरने के लिए फोटो खिंचाना है तो महिला ने चंद्रमुनि को इस दौरान देखभाल करने झांसा दिया। चंद्रमुनि उस महिला के झांसे में अा गई और फोटाे खिंचाने के लिए वार्ड से बाहर निकल गई। चंद्रमुनि के बाहर निकलते ही महिला भी बच्चे को लेकर प्रथम तल से नीचे उतरी और पीछे के दरवाजे से होते हुए बच्चे को लेकर फरार हो गई।


फुटेज से पता चला कि बच्चा चोरी करने वाली महिला सुबह 10 बजे ही जिला अस्पताल पहुंच गई थी और मुख्य गेट के पास ही खड़े होकर 15 से 20 मिनट तक मोबाइल में किसी से बात की। मोबाइल में बात करने के बाद बच्चा चोरी के फिराक में महिला अस्पताल परिसर में ही इधर उधर घुमती रही और दोपहर 2 बजे अस्पताल के प्रथम तल में बने पीपीसी वार्ड में पहुंचकर घटना को अंजाम दिया 

अस्पताल से बच्चा चोरी होने का मामला संज्ञान में आते ही तत्काल इसकी सूचना सिटी कोतवाली पुलिस को दी गई थी। सीसी टीवी फुटेज को भी खंगाला जा रहा है।'' डॉ. अनुरंजन टोप्पो, आरएमओ जिला अस्पताल
 अस्पताल से बच्चा चोरी होने की जानकारी मिली है, जानकारी मिलने के बाद बच्चा चोरी करने वाली महिला की तलाश की जा रही है।'' लक्ष्मण सिंह ध्रुर्वे, थाना प्रभारी जशपुर
अस्पताल की सुरक्षा पर उठे सवाल
मंगलवार को जिला अस्पताल में हुए बच्चा चोरी के मामले के बाद जिला अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लग गया है। जिला अस्पताल में सुरक्षा के लिए 15 सिक्योरिटी गार्ड के साथ-साथ 12 नगर सैनिकों को तैनात किया है। सिक्योरिटी गार्ड और नगर सैनिकों की ड्यूटी अस्पताल के अलग अलग हिस्सों में लगाई है। अस्पताल में गार्ड और नगर सैनिकों की ड्युटी होने के बावजूद भी महिला ने अस्पताल से बच्चे चोरी की घटना को बेखौफ होकर अंजाम दे दिया। 

    Tags :
    Web Title : Woman absconding from district hospital in broad daylight for 6-day-old newborn