akhbar jagat

ड्रिल मशीन से खोला एटीएम,उड़ाए 13.87 लाख

ड्रिल मशीन से खोला एटीएम,उड़ाए 13.87 लाख

अख़बार जगत। देश  भर में चोरी और लूट के मामले दिनों दिन बढ़ते जा हैं। और चोर इतने शातिर होकर चोरी करते हैं कि उन्हें पकड़ पाना भी उतना ही मुश्किल होता जा रहा है। आईटीआई परिसर स्थित एसबीआई के एटीएम से 13 लाख 87 हजार रुपए की सनसनीखेज चोरी का मामला सामने आया है। चोरी को बैंक एटीएम मेन्टेनेंस करने वाले ही किसी शख्स ने अंजाम दिया है। सबसे पहले उसने एटीएम मशीन में लगे इनबिल्ट कैमरों को डिस्कनेक्ट किया, फिर बूथ के कैमरे के सीसीटीवी तार काटे। इसके बाद मशीन की बॉडी का बॉक्स नट खोला और  चेस्ट बॉक्स (जिसमें रुपए रखे होते हैं) में ड्रिल मशीन से छेद कर लीवर खोल नाेटाें से भरा बॉक्स चुरा लिया। यही नहीं, चोरी के बाद आरोपियों ने मशीन को वापस वैसे ही कस दिया।

शनिवार सुबह कस्टमर एटीएम से रुपए न निकलने पर परेशान हुए तो चोरी का पता चला।  एएसपी प्रशांत चौबे ने बताया कि घटना शुक्रवार देर रात को परदेशीपुरा इलाके की है। इस एटीएम बूथ में न तो गार्ड था, ना ही कैमरे एक्टिवेट थे। मशीन के अंदर के लगे दो कैमरों को आरोपियों ने तार काटकर डिस्कनेक्ट किया, फिर वारदात की है। मशीन मेन्टेनेंस करने वाले किसी जानकार ने ही ये वारदात की है। चोर ने लीवर के पास छेद किया है, जहां से लीवर को नीचे करने पर लॉक खुल जाता है। हालांकि ये लीवर दो चाबी और दो पासवर्ड से खुलता है। लेकिन लीवर दबाकर बॉक्स को खोलने की नई तकनीक उपयोग की गई है। पूरे मामले में पुलिस को एटीएम मेन्टेनेंस करने वाली ही कंपनी के व्यक्ति की भूमिका नजर आ रही है। 

जिस एटीएम मशीन में चोरी की वारदात हुई है। इस एटीएम मशीन में 3 माह पहले भी चोरी का प्रयास हुआ था। इस घटना में पुलिस ने एटीएम मशीन में रुपये डालने और उसकी देखरेख करने वाली कंपनी के ही चार लोगों को आरोपी बनाया था। उस वक्त ये वर्कर मशीन के तकनीकी फॉल्ट का उपयोग कर उसमें कम राशि जमा कर अधिक राशि की संख्या को मशीन में मेन्युअली फीड कर देते थे।

    Web Title : ATM opened by drill machine, blew 13.87 lakh