akhbar jagat

22 ब्लैकलिस्ट एडवाइजरी पर क्राइम ब्रांच पहुंची तो नहीं मिलीं कंपनियां

22 ब्लैकलिस्ट एडवाइजरी पर क्राइम ब्रांच पहुंची तो नहीं मिलीं कंपनियां

अख़बार जगत । निवेश के नाम पर लाेगाें काे धोखा देने वाली 22 ब्लैक लिस्टेड एडवाइजरी कंपनियों के खिलाफ क्राइम ब्रांच काे 100 से ज्यादा शिकायतें मिल चुकी हैं। इनमें तीन कराेड़ रुपए से ज्यादा की ठगी की जा चुकी है। अधिकांश पीड़ित अहमदाबाद, हैदराबाद, फिरोजाबाद, जयपुर, उदयपुर, दिल्ली, नोएडा, पटना के हैं। इन कंपनियाें ने पीड़िताें काे अपना पता गलत बताया। क्राइम ब्रांच की टीम वहां पहुंची ताे कंपनियाें के दफ्तर मिले ही नहीं । 

डीआईजी रुचिवर्धन मिश्र ने एडवाइजरी कंपनियों के लिए एएसपी क्राइम ब्रांच राजेश दंडोतिया को जिले का नोडल अधिकारी घोषित कर उन्हीं की टीम को जांच सौंपी है। एएसपी ने बताया कि सेबी से 22 ब्लैक लिस्टेड कंपनियों की सूची मिली है। इनके खिलाफ 100 से ज्यादा शिकायतें मिली हैं, जिनमें तीन करोड़ रुपए से ज्यादा की ठगी हुर्इ। सभी पीड़िताें से माेबाइल काॅल रिकाॅर्डिंग, माेबाइल, खाते में ट्रांसफर किए गए रुपए और खाताें की जानकारी ली जा रही है। कई पीड़ितों ने कुछ कंपनियों के दफ्तरों के पते बताए थे। टीम वहां पहुंची, लेकिन मिला कुछ नहीं। फर्जी पते वाली कई कंपनियों की भी सूची बनाकर इनके संचालकों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया जाएगा। 

इन कंपनियाें के खिलाफ मिली शिकायतें

कैपिटल ट्रू फाइनेंशियल सर्विस, झोडी रिसर्च, हाईब्रो मार्केट रिसर्च, ट्रेड ब्रिज रिसर्च, प्रीमियम रिसर्च फाइनेंशियल सर्विस, प्रीमियम कैपिटल सर्विस, एमआई रिसर्च, स्टार इंडिया मार्केट रिसर्च, कैपिटल हीड फाइनेंशियल रिसर्च, कोर इन्वेस्टमेंट रिसर्च, कोर ग्रुप, स्मार्ट ट्रेड्स, थ्री एम टीम रिसर्च, रिसर्च इनफोटेक, ट्रेड इंडिया रिसर्च, एपिक रिसर्च, मनी क्लासिक, रिपल्स एडवाइजरी प्रा.लि., मनी डिजायर, द यूकॉम फाइनेंस रिसर्च, प्रॉफिट गुरु, इन्वेस्ट मार्ट लिमिटेड और अन्य।

    Tags :
    Web Title : 22 blacklist advisory reached crime branch, companies not found